logo
कार्तिक पूर्णिमा को ये काम करके कर दे अपने पित्तरो को तृप्त ,हो जायेगा पितृदोष खत्म
 

कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान, दान -पुण्य, तुलसी पूजा ,विष्णु पूजा, सत्य नारायण भगवान की कथा, शिवलिंग पूजा ,हनुमान पूजा 6 छः तपस्विनी कृतिकाओं उनकी पूजन आदि कार्य किया जाता है। 

op

 इस दिन नदी ,तालाब आदि जगहों पर दीपदान करने से सभी तरह के कष्ट समाप्त होते हैं और जातक कोकर्ज से मुक्ति मिलती है अगर आपको अकाल  मृत्यु से बचना है तो दीप दान करना चाहिए अपनी मृतकों की सद्गति  के लिए भी दीप दान करना बहुत जरूरी है। 

io

इसे पित्तर दोष  समाप्त होता है यम ,शनि ,राहु और केतु के बुरे प्रभाव से बचने के लिए दीप दान करना चाहिए और सभी तरह के अला-बला, गृहकलह और संकटों से बचने के लिए भी दीपदान काफी जरूरी है।