logo
अंगारक चतुर्थी पर हनुमान जी के साथ ऐसे करे गणेश जी की पूजा ,दूर होगा मंगल दोष
 

आज अंगारकी चतुर्थी है हिंदू पंचांग के अनुसार चतुर्थी हर महीने में 2 बार आती है इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने से सारे कष्ट दूर होते हैं। 

io

जब यह चतुर्थी मंगलवार के दिन पड़ती है उस दिन को अंगारकी चतुर्थी कहा जाता है इस दिन गणेश जी की पूजा के साथ हनुमान जी को सिंदूर से तिलक करने से मंगल दोष में राहत मिलती है अंगारकी चतुर्थी पर गणेश जी और हनुमान जी के साथ ही मंगल देव की भी पूजा करनी चाहिए। 

io

इस दिन मंगल देवता ने भगवान गणेश को प्रसन्न करने के लिए काफी कठिन तपस्या की थी और उनकी इसी तपस्या को देखकर गणेश जी ने उन्हें वरदान दिया था कि मंगलवार के दिन जो भी चतुर्थी पड़ेगी उसे अंगारकी चतुर्थी के नाम से जाना जाएगा और इस व्रत के प्रभाव से मनुष्य की सभी कार्यों में आ रहे  बाधाएं दूर हो जाएंगी। 

io

 इस दिन सुबह जल्दी उठकर लाल वस्त्र धारण करें, स्नान के बाद गणेश जी की पूजा करें गणेश जी की मूर्ति पर अच्छी तरह से फूल सजाएं इसके बाद तिल ,लड्डू ,गुड, फूल ,तांबे के कलश में पानी ,धूप,चंदन और प्रसाद के तौर पर नारियल या केला रखें। 

io

इस दिन हनुमान जी की पूजा करनी चाहिए हनुमान जी को सिंदूर से तिलक करें इसके बाद गणेश जी को भोग लगाएं अगर आपको मंगल दोष से राहत पानी है तो इस दिन गणेश जी के साथ हनुमान जी का भी ध्यान करें इसके साथ ही ऋण हर्ता और विघ्नहर्ता गणपति बप्पा के श्रोत का पाठ करें।