logo
'बॉलीवुड बन गया पाप-ए-मा..', सुब्रमण्यम स्वामी ने अक्षय कुमार को भेजा कानूनी नोटिस
 

नई दिल्ली: बीजेपी के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुब्रमण्यम स्वामी पिछले कई महीनों से लगातार मोदी सरकार और प्रधानमंत्री पर निशाना साध रहे हैं।स्वामी अक्सर मोदी सरकार को उसकी विदेश नीति और अर्थव्यवस्था से घेर लेते हैं। वहीं अब बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार उनके निशाने पर आ गए हैं और स्वामी ने उन्हें लीगल नोटिस भेजा है। सुब्रमण्यम स्वामी ने अक्षय कुमार को अपनी फिल्म राम सेतु को लेकर यह नोटिस भेजा है।

बीजेपी नेता ने कहा कि बॉलीवुड वालों को झूठ बोलने की बुरी आदत होती है।स्वामी ने अपने ट्वीट में लिखा कि, 'मुंबई सिनेमा (या सिन-ए-मा) के लोगों को झूठ बोलने और गलत सूचना फैलाने की बुरी आदत है। इसलिए उन्हें बौद्धिक संपदा अधिकार सिखाने के लिए, मैंने वकील सत्य सभरवाल के माध्यम से बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार (भाटिया) और उनके 8 अन्य लोगों को राम सेतु गाथा को विकृत करने के लिए कानूनी नोटिस भेजने का फैसला किया है।' आपको बता दें कि अक्षय राम सेतु पर फिल्म बना रहे हैं। वहीं स्वामी का आरोप है कि फिल्म के चित्रण में गलत तथ्यों को दिखाया गया है और इसके लिए अक्षय कुमार और उनकी टीम जिम्मेदार है।

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले भी सुब्रमण्यम स्वामी ने अक्षय कुमार पर हमला करते हुए उनसे कहा था कि वह विदेशी हैं। स्वामी ने अक्षय कुमार को जेल भेजने की भी बात कही थी। आपको बता दें कि बीजेपी नेता राम सेतु को लेकर ट्वीट करते रहते हैं। 25 जुलाई को उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि राम सेतु की प्रेम कहानी की कहानी ताजमहल से भी पुरानी है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'मैं जानता हूं कि एक नवविवाहित जोड़ा ताजमहल का दौरा करने के बाद मुझसे मिला और मुझसे पूछा कि मैं राम सेतु को बहाल करने के लिए क्यों उत्सुक हूं। मैंने उनसे कहा कि राम सेतु ताजमहल से भी पुराने प्रेम की कहानी है। फिर मैंने पूछा कि वह पहले राम सेतु क्यों नहीं गए?'

आपको बता दें कि, राज्यसभा के पूर्व सांसद सुब्रमण्यम स्वामी लगातार केंद्र सरकार से रामसेतु को राष्ट्रीय विरासत स्मारक घोषित करने की मांग कर रहे हैं। उनका दावा है कि राम सेतु को राष्ट्रीय विरासत स्मारक घोषित करने की मांग को लेकर संबंधित विभाग के केंद्रीय मंत्री ने 2017 में बैठक बुलाई थी. लेकिन उसके बाद इस मामले में कुछ नहीं हुआ।