logo
David Warner: टाइटैनिक फेम ब्रिटिश एक्टर डेविड वार्नर का निधन, शोक में डूबे फैंस
 

ब्रिटिश हॉलीवुड अभिनेता डेविड वार्नर का 80 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वह कैंसर से पीड़ित थे। उन्होंने शेक्सपियर की कहानियों पर आधारित फिल्मों से लेकर साइंस फिक्शन क्लासिक्स तक की फिल्मों में काम किया है। डेविड का लंदन के डैनविल हॉल में निधन हो गया। एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री से रिटायर होने वाले लोग यहां रह रहे हैं। डेविड को अक्सर विलेन के किरदार मिल रहे हैं। उन्होंने 1971 की मनोवैज्ञानिक थ्रिलर 'स्ट्रॉ डॉग्स', 1976 की हॉरर क्लासिक 'द ओमेन', 1979 की टाइम-ट्रैवल एडवेंचर 'टाइम आफ्टर टाइम - ही जैक द रिपर' और 1997 की ब्लॉकबस्टर 'टाइटैनिक' में भी महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं।

pp

बता दें कि डेविड वॉर्नर ने लंदन में रॉयल एकेडमी ऑफ ड्रामेटिक आर्ट से कोचिंग भी ली थी। डेविड उन दिनों रॉयल शेक्सपियर कंपनी के यंग स्टार बन गए थे। उन्होंने शेक्सपियर की फिल्मों में कई भूमिकाएँ निभाईं, जिनमें 'किंग हेनरी VI' और 'किंग रिचर्ड II' शामिल हैं। 1965 में पीटर हॉल द्वारा निर्देशित कंपनी के लिए 'हेमलेट' में उन्होंने जो किरदार निभाया, उसे उस पीढ़ी का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कहा गया।


आरएससी के कलात्मक निदेशक एमेरिटस ग्रेगोर डोरन ने कहा है, "डेविड वार्नर ने 'हेमलेट' में एक प्रताड़ित छात्र की भूमिका भी निभाई है। वह 1960 के दशक के युवाओं के प्रतीक और एक अशांत युग की कट्टरपंथी भावना को पकड़े हुए लग रहे थे। डेविड ने हॉल की 1968 की फिल्म 'ए मिडसमर नाइट्स ड्रीम' में हेलेन मिरेन और डायना रिग के साथ काम किया।

h

जिसके बाद डेविड वार्नर ने 1981 की टीवी मिनिसरीज 'मसादा' में रोमन राजनेता पोम्पिओयस फाल्को के रूप में अपनी भूमिका के लिए एमी अवार्ड भी जीता। यूके और अमेरिकी फिल्म और टीवी उद्योगों में उनका शानदार करियर रहा है।