logo
Entertainment News-माँ नरगिस की पुण्यतिथि पर संजय दत्त ने कहा, 'काश मेरी पत्नी और बच्चे आपसे मिलते'
 

अभिनेता संजय दत्त ने अपनी मां और महानायक नरगिस को उनकी 41वीं पुण्यतिथि पर याद करते हुए मंगलवार को कहा कि वह उन्हें हर दिन याद करते हैं । भारतीय सिनेमा की महानतम अभिनेत्रियों में से एक के रूप में मानी जाने वाली, नरगिस की फिल्मोग्राफी में बरसात, रात और दिन, आवारा, श्री 420, मदर इंडिया और रात और दिन जैसे क्लासिक्स फिल्में शामिल हैं जिसमें उन्होंने ऐसा काम किया जिसको कोई भी भूला नहीं सकता हैं ।

शायद आप सभी इस बात को नहीं जानते होंगे कि, संजय की पहली फिल्म रॉकी के सिनेमाघरों में हिट होने से ठीक तीन दिन पहले 3 मई, 1981 को नरगिस की अग्नाशय के कैंसर से मृत्यु हो गई । वह 51 वर्ष की थीं । एक ट्विटर पोस्ट में, अभिनेता ने अपनी दिवंगत मां की कई पुरानी तस्वीरें शेयर कीं । 62 वर्षीय अभिनेता ने लिखा, "एक भी क्षण ऐसा नहीं जाता जब मैं तुम्हें याद नहीं करता। माँ, तुम मेरे जीवन का आधार और मेरी आत्मा की ताकत थी।" इसके आगे संयज ने लिखा कि, "काश मेरी पत्नी और बच्चे आपसे मिले होते ताकि आप उन्हें अपना सारा प्यार और आशीर्वाद दे सकें । मुझे आज और हर दिन आपकी याद आती है!"

आपको बता दें कि, संजय दत्त ने निर्माता मान्यता दत्त से शादी की है और दंपति जुड़वां बच्चों शहरान और इकरा के माता-पिता हैं । उनकी पहली पत्नी ऋचा शर्मा से उनकी एक बेटी, त्रिशाला दत्त भी है, जिनका 1996 में निधन हो गया था । नरगिस दत्त ने 1958 में साथी मदर इंडिया अभिनेता और राजनेता सुनील दत्त से शादी की थी । संजय दत्त के अलावा, दंपति की बेटियां, लेखक नम्रता दत्त और राजनीतिज्ञ प्रिया दत्त भी थीं । प्रिया दत्त ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर नरगिस की एक तस्वीर साझा की और पोस्ट को पिता सुनील दत्त की हिट फिल्म मेरा साया के शीर्षक गीत पर सेट किया । एक इमोशनल नोट में उन्होंने लिखा, "मेरी जिंदगी में और मेरे काम के जरिए उनकी मौजूदगी हर जगह है। मां का निधन आज ही के दिन हुआ था जब मैं 14 साल की थी लेकिन उन्होंने कभी मेरा साथ नहीं छोड़ा ।

कांग्रेस के पूर्व सांसद ने कहा कि उनके माता-पिता पर्दे पर और वास्तविक जीवन में अपने काम से अमर हैं । इसके आगे बता दें कि, नरगिस दत्त फाउंडेशन एक गैर-सरकारी संगठन है जो स्वास्थ्य देखभाल, आपदा राहत, महिला सशक्तिकरण, शिक्षा और खेल की दिशा में काम करता है । मनमोहन सिंह सरकार में युवा मामले और खेल मंत्री के रूप में कार्य करने वाले सुनील दत्त का 25 मई, 2005 को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था वो 75 वर्ष के थे।