logo
अमेरिका ने इस दिन जापान में हिरोशिमा को नष्ट किया था, गिराए थे परमाणु बम, इतना हुआ था नुकसान
 

टोक्यो: दूसरे विश्व युद्ध के दौरान अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 को जापान के हिरोशिमा में 'लिटिल बॉय' नाम के यूरेनियम बम पर हमला किया था। इस बम ने हिरोशिमा नगर में कहर बरपाया। इसके विस्फोट का असर करीब 13 किमी. उस समय इस हिरोशिमा की कुल आबादी लगभग 3.5 लाख थी और इस विस्फोट ने 1 लाख चालीस हजार से अधिक लोगों की जान ले ली थी।

इस हमले में बड़ी संख्या में बच्चे, बूढ़े और महिलाएं मारे गए थे। इस हमले के बाद भी कई लोगों की मौत रेडिएशन के प्रभाव से हुई थी। यह किसी भी देश द्वारा जापान पर अब तक का सबसे बड़ा हमला था। इतना ही नहीं अमेरिका ने इसके बाद भी अपनी बर्बरता जारी रखी और इस हमले के ठीक तीन दिन बाद 9 अगस्त को नागासाकी पर 'फैट मैन' नाम का प्लूटोनियम बम गिरा।

इस दूसरे हमले में भी जापान के करीब 74 हजार निर्दोष लोग मारे गए थे। इसके बाद भी अमेरिका ने जापान पर हमला जारी रखा, जिसके बाद जापान ने 14 अगस्त को अमेरिका के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। जापान के आत्मसमर्पण के बाद ही यह विश्व युद्ध समाप्त हुआ।