logo
Halwai Style Kadhi Kachori: अजमेर की मशहूर कढ़ी कचौरी बनाने का आसान तरीका
 

राजस्थान में खाने के लिए बहुत कुछ है। दरअसल यहां के खाने का स्वाद ही अलग है।  यहां बनी कढ़ी कचौरी सबसे अच्छे व्यंजनों में से एक है और राजस्थान में नाश्ते के लिए बनाई जाती है। आप सभी को बता दें कि राजस्थान के अलग-अलग शहरों को इसे बनाने का एक अलग तरीका और स्वाद मिलेगा। फिलहाल हम आपको इसे बनाने की आसान रेसिपी बता रहे हैं।

कढ़ी कचौरी की सामग्री-
करी बनाने के लिए-
तेल
एक प्रकार की सरसों
हींग
पानी
बेसन
आम के छिलके का सूखा चूर्ण
लाल मिर्च पाउडर
हल्दी पाउडर
 
कचौरी बनाने के लिए-
कचौरी का आटा
जीरा
अदरक
लहसुन
सौंफ
धनिया के बीज
हरी मिर्च बारीक कटी हुई
 मिर्च
भीगी हुई दाल
सूखा अमचूर
लाल मिर्च पाउडर
नमक स्वादअनुसार
हरी धनिया

बनाने की विधि- सबसे पहले एक नॉन स्टिक पैन में तेल गरम करें, उसमें जीरा, अदरक, लहसुन, सौंफ, धनिया, हरी मिर्च और कुटीर मिर्च डालकर अच्छी तरह भूनें। भीगी हुई दाल डालें, मिलाएँ और अच्छी तरह भूनें। 
- इसके बाद इसमें अमचूर पाउडर, लाल मिर्च पाउडर और नमक डालकर मिलाएं।  धनिया पत्ती डालें और अच्छी तरह मिलाएँ। 
- अब मसाले को ठंडा होने दें। साथ ही कचौरी के आटे को बराबर भागों में बाँट लें, प्रत्येक भाग में एक चम्मच भरावन भरकर गोला बना लें और एक मोटी कचौरी बेल लें। 
- कढ़ाई में तेल गरम करें। कचौरियों को सुनहरा होने तक डीप फ्राई करें।
- अब इसे बनाने के लिए एक प्याले में पानी लेकर उसमें एक छोटा चम्मच बेसन डाल दीजिए। 
- फिर मसाले में लाल मिर्च पाउडर, अमचूर पाउडर और छोटी चम्मच हल्दी पाउडर डाल दीजिए।  इसे अच्छे से मिलाएं। 
- अब एक पैन गरम करें, उसमें तेल डालें, राई डालें। धीमी आंच पर इसे अच्छे से चमकने दें। 
- जरूरी है कि सरसों के दाने अच्छे से अंकुरित हों, इससे इसका स्वाद दूर हो जाएगा। फिर इसमें एक चुटकी भांग डालकर पकाएं। आंच बंद कर दें। 
- अब इसमें पानी, बेसन और मसाले का मिश्रण डालें। इसे आंच पर रख दें। आप इसे 45-60 मिनट तक उबलने दें और जब ये उबलने लगे तो स्वादानुसार नमक डालें। एक दो मिनट तक पकाएं। लीजिए गरमा गरम कचौरी तैयार है।