logo

Health News: रात में सोते समय भूलकर भी ना करें ये गलतियां, होगा बड़ा नुकसान

 

बहुत ठंड वाली जगह पर रजाई ओढ़कर सोने की बात ही अलग है, लेकिन अगर आप रजाई से मुंह ढक कर सो रहे हैं तो सावधान हो जाइए। सर्दी में ठंड से बचने के लिए ज्यादातर लोग मुंह तक कंबल ओढ़कर सोते हैं। मुंह ढक कर सोने से न केवल शांति मिलती है, बल्कि शरीर को गर्माहट भी मिलती है। लेकिन क्या यह आदत सच है? इस प्रश्न का उत्तर नहीं है। सर्दियों में अपने चेहरे को रजाई से ढक कर सोने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के साथ-साथ चेहरे की अंतर्निहित समस्याएं भी हो सकती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं कि रजाई से मुंह ढककर सोने से क्या-क्या समस्याएं हो सकती हैं।

How the cold winter season affects your sleep quality, duration and time |  Health Tips and News
सर्दियों में मुंह ढक कर सोने से रजाई के अंदर ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती और रजाई के अंदर की अशुद्ध हवा बाहर नहीं निकल पाती। अशुद्ध हवा के कारण आपकी त्वचा का रंग पीला पड़ सकता है। लोग अक्सर कहते हैं कि सर्दियों में उनकी त्वचा काली पड़ जाती है। सर्दियों में अपने चेहरे को रजाई से ढक कर सोने से भी आपकी त्वचा काली पड़ सकती है।

रजाई में सिर ढंककर सोने से बढ़ सकता है स्लीप एपनिया का खतरा

जिन लोगों को सर्दियों में मुंह ढककर सोने की आदत होती है, उनके शरीर के ब्लड सर्कुलेशन पर भी बुरा असर पड़ता है। अगर रात को सोते समय ब्लड सर्कुलेशन ठीक नहीं होता है तो इससे चेहरे पर पिंपल्स और एक्ने की समस्या हो सकती है। पिंपल्स और एक्ने चेहरे की खूबसूरती पर दाग लगाने का काम करते हैं।