logo
Health Tips गर्मियों में रोज पी सकते हैं मीठे नीबू का रस, हैं ढेर सारे फायदे
 

हुत से लोग गर्मी के दिनों में मौसमी का जूस पीते हैं क्योंकि इसे पीने से सेहत को कई फायदे मिलते हैं। खट्टे फलों के सेवन की बात करें तो लोग नींबू और संतरा के बाद मौसमी खाना पसंद करते हैं। स्वीट लेमन का स्वाद खट्टा-मीठा होता है, जिसमें कई तरह के पोषक तत्वों का भंडार होता है। भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है, जो इम्युनिटी को बूस्ट करता है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की, यह एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल और एंटीडायबिटिक गुणों का पावरहाउस है। कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, विटामिन बी6, थायमिन, आयरन, फाइबर, जिंक, पोटैशियम, कॉपर, फोलेट आदि होते हैं। किस तरह मौसमी का जूस पीने से सेहत को फायदा हो सकता है।

k

मौसमी का जूस पीने के फायदे-

भूख बढ़ाएं - बता दे की, इस फल को खाने या इसका जूस पीने से भूख न लगने की समस्या दूर हो जाती है. जिन लोगों को एनोरेक्सिया की समस्या है उन्हें भी मीठे नींबू का रस पीना चाहिए। एनोरेक्सिया शरीर के वजन में अत्यधिक कमी के कारण होता है और मौसमी का नियमित सेवन लार ग्रंथियों को उत्तेजित करता है, जिससे भोजन का स्वाद अच्छा होता है। व्यक्ति के भीतर खाने की इच्छा विकसित होती है।

मतली, उल्टी को रोकें - गर्भावस्था, अपच, हार्मोनल असंतुलन, महत्वपूर्ण अंगों में कोई समस्या भी उल्टी या मतली की समस्या का कारण बनती है। मीठा नींबू खाने या इसका जूस पीने से आराम मिलता है.

k

स्कर्वी रोग से राहत- बता दे की, स्कर्वी रोग शरीर में विटामिन सी की कमी के कारण होता है। बीमारी में अत्यधिक थकान, मसूड़ों से खून आना, चोट लगना, बाल झड़ना जैसी समस्याएं देखी जा सकती हैं। मौसमी से भरपूर ऐसा विटामिन सी इस बीमारी को ठीक करने में मदद करता है।

पीलिया- आपकी जानकारी के लिए बता दे की, पीलिया रक्त में बिलीरुबिन की वृद्धि के कारण होता है और यह हेपेटाइटिस, पित्त में पथरी, ट्यूमर के कारण भी हो सकता है।पीलिया से पीड़ित मरीजों को सख्त आहार लेने की जरूरत है,  तैलीय, चिकना भोजन स्थिति को और खराब कर सकता है।  पीलिया में मीठे नींबू का सेवन किया जाता है।

इम्युनिटी को मजबूत करें - आपकी जानकारी के लिए बता दे की, विटामिन सी से भरपूर मौसमी का जूस इम्युनिटी को बूस्ट करता है और कई बीमारियों और इंफेक्शन से बचाता है। कई तरह के मौसमी संक्रमण जैसे खांसी, जुकाम और बुखार से बचाने में अहम भूमिका निभाता है। वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन को मात देने के लिए हफ्ते में कम से कम तीन बार इस फल का सेवन करें।

डिहाइड्रेशन से बचें- अगर आप डिहाइड्रेशन का शिकार नहीं होना चाहते हैं तो मौसमी का जूस जरूर पिएं। पोटेशियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज और अन्य खनिजों से भरपूर मौसमी जूस का एक गिलास पीने से फायदा हो सकता है।

हड्डियां होती हैं मजबूत - बहुत से लोगों को आज के समय में ऑस्टियोआर्थराइटिस और रुमेटीइड आर्थराइटिस होने का खतरा हो जाता है और ये सभी इम्यून सेल्स के कारण टिश्यू में सूजन का परिणाम होते हैं। वहीं विटामिन सी और फोलिक एसिड से भरपूर मीठे नींबू का रस हड्डियों को मजबूत करता है और जोड़ों की कार्यक्षमता में सुधार करता है।