logo
Health tips : दिल को स्वस्थ रखने के लिए अपनाये ये टिप्स !
 

सर्दियां आ चुकी है और किसी को अपने दिल और पूरे स्वास्थ्य पर नियंत्रण रखने की जरूरत है क्योंकिसर्दी रक्त वाहिकाओं के कसना को बढ़ाती है, जिससे हृदय को रक्त की आपूर्ति कम हो जाती है। बता देकी, सर्दियों के मौसम में प्रदूषण भी बढ़ जाता है जो प्लेटलेट एकत्रीकरण को बढ़ाता है और थक्का बननेकी ओर ले जाता है।

d

आपकी जानकारी के लिए बता दे की, ठंडे वातावरण में फ्लू का खतरा भी बढ़ जाता है जिससे सूजन होजाती है, अधिक पट्टिका टूट जाती है, जिससे अधिक दिल का दौरा पड़ता है। उच्च शर्करा के स्तर केसाथ बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल से उच्च रक्तचाप हो सकता है, जिससे दिल के दौरे का खतरा बढ़ जाता है।लोगों को अपने दिल की सेहत को गंभीरता से लेने की जरूरत है।

दिल को स्वस्थ रखने के टिप्स
अचानक ठंड के संपर्क में आने से बचें।
गर्म कपड़े ठीक से पहनें।
अत्यधिक प्रदूषित स्थानों से बचें और ऐसे क्षेत्र में जाना हो तो एन-95 मास्क लगाना जरूरी है।
अगर आप कोई फ्लू विकसित करते हैं, तो डॉक्टर से परामर्श लें और उचित दवा लें।
बार-बार फास्ट फूड से बचें।
शराब को संयमित रूप से लेना है और धूम्रपान को ना कहना है।
अगर आपके डॉक्टर ने आपको कुछ दवाओं की सलाह दी है, तो आपको हृदय रोग को रोकने के लिए
इन दवाओं को लेने में अधिक आज्ञाकारी और अधिक नियमित होना चाहिए।
संतुलित आहार लें और शरीर को हाइड्रेट रखें।

dd

दिल को स्वस्थ रखने के टिप्स
आपकी जानकारी के लिए बता दे की, मध्यम शारीरिक तीव्रता वाला व्यायाम हृदय संबंधी लाभों से जुड़ाहुआ है, अचानक हृदय की मृत्यु और व्यायाम से संबंधित तीव्र रोधगलन की कई घटनाएं हुई हैं। 35 वर्षसे कम आयु वर्ग में, हाइपरट्रॉफिक कार्डियोमायोपैथी, कोरोनरी धमनियों की असामान्य उत्पत्ति, कार्डियकचैनलोपैथी, हृदय वाल्व विकार जैसे बाइसीपिड महाधमनी वाल्व, अतालताजनक दाएं वेंट्रिकुलरडिसप्लेसिया, महाधमनी विच्छेदन, और वेंट्रिकुलर प्रीएक्सिटेशन जैसे वंशानुगत विकार अचानक कार्डियकके कारण हैं।

व्यायाम से संबंधित कार्डियक मौतों को रोकने के लिए युक्तियाँ
सीने में दर्द, बेचैनी, जकड़न या व्यायाम से संबंधित दबाव से जुड़े मापदंडों की जांच करने कीआवश्यकता है। अस्पष्टीकृत चक्कर आना, व्यायाम करते समय अस्थिरता महसूस करना, व्यायाम सेप्रेरित सांस की तकलीफ, थकान और धड़कन की जांच करने की आवश्यकता है। अगर परिवार में हृदयसंबंधी मौतें हुई हैं, तो ज़ोरदार व्यायाम करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

बता दे की, अगर आप अधिक वजन वाले हैं, उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं या मार्फन सिंड्रोम के कारणबहुत लंबे हैं, या दिल में बड़बड़ाहट है, तो आपको सतर्क रहने और हृदय रोग विशेषज्ञ से परामर्श करनेकी आवश्यकता है। विस्तृत नैदानिक ​​​​इतिहास पूरी तरह से नैदानिक ​​​​परीक्षा और ईसीजी,इकोकार्डियोग्राफी, चेस्ट एक्स-रे, और कभी-कभी होल्टर निगरानी और शायद ही कभी आनुवंशिक परीक्षणोंजैसे परीक्षणों को हृदय स्वास्थ्य के लिए एक उचित