logo
Intresting! कुएं में मिला 200 साल पुराना पत्थर, लोग बोले- यह शिवलिंग है, फिर करने लगे पूजा
 

आजकल कई तरह के मामले सामने आ रहे हैं जो चौकाने वाले हैं , ऐसे में हाल ही में जो मामला सामने आया है वह शिवलिंग से मिलने का है।  दरअसल, ज्ञानवापी मस्जिद में मिले कथित शिवलिंग को लेकर पिछले दिनों देशभर में बहस छिड़ी हुई है और अब महाराष्ट्र के वाशिम जिले के करंजा कस्बे के एक कुएं में शिवलिंग की आकृति मिली है, जिसे पुजारी शिवलिंग के रूप में वर्णित है। मिली जानकारी के अनुसार शिवलिंग के शहर में फैले कुएं में आग की तरह पाए जाने की खबर और इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है।  दरअसल, मानसून को ध्यान में रखते हुए करंजा कस्बे के तिलक चौक पर एक कुएं की सफाई का काम चल रहा था। 

यहां की मिट्टी को हटाते समय एक बड़ी शिवलिंग की आकृति मिली, जिसका वजन 30 से 35 किलोग्राम बताया जाता है। उसके बाद परिसर के लोगों ने करंजा कस्बे स्थित जगत जननी मां भवानी मंदिर के पुजारी अजय शर्मा को बुलाया। पुजारी ने आकर कहा कि इस पत्थर का आकार शिवलिंग जैसा है और यह नर्मदेश्वर शिवलिंग होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह 200 साल से अधिक पुराना है। अब कहा जा रहा है कि यह कुआं 60 फीट से ज्यादा गहरा और 100 साल से ज्यादा पुराना है। जी हां और इस अनोखे पत्थर को पानी से साफ कर पास के एक पेड़ के नीचे रख दिया गया है। अब शिव भक्तों ने सरकार से मांग की है कि वहां जल्द से जल्द शिव मंदिर बनाया जाए।
 
करंजा कस्बे के तहसीलदार धीरज मांजरे का कहना है कि उन्होंने इलाके का दौरा कर अनोखे पत्थर का निरीक्षण किया है और इसकी लिखित जानकारी पुरातत्व विभाग को भेजी है।  अब इस अनोखे पत्थर का रहस्य पुरातत्व विभाग ही खोलेगा। इन सबके बीच यह बात पूरे शहर में फैल गई कि शहर के तिलक चौक के कुएं में एक प्राचीन शिवलिंग मिला है, जिसे देखने के लिए अब लोगों की भीड़ उमड़ रही है।