logo
Travel Tips : ये हैं भारत के सबसे प्रेतवाधित पिकनिक स्पॉट, एक बार जरूर जाएं
 

18 जून को दुनिया भर में अंतर्राष्ट्रीय पिकनिक दिवस के रूप में मनाया जाता है। दरअसल ऐसा कहा जाता है कि पिकनिक शब्द फ्रेंच भाषा से आया है, जिसका अर्थ है प्रकृति के बीच बैठकर भोजन का आनंद लेना। आपको बता दें कि पिकनिक डे मनाने का मकसद लोगों को प्रकृति के प्रति जागरूक करना और अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकालकर प्रकृति की गोद में कुछ समय बिताना है। वैसे तो भारत में कई खूबसूरत पिकनिक स्पॉट हैं, इसके साथ ही भारत में कई डरावने पिकनिक स्पॉट हैं जिनके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं। आप यहां आकर दर्शन कर सकते हैं।

cc

बरोग टन, हिमाचल प्रदेश - यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल कालका-शिमला रेलवे लाइन में बनी बरोग सुरंग भी बेहद डरावनी है। जी हां, यह सुरंग कालका से 41 किमी की दूरी पर स्थित बरोग स्टेशन के पास स्थित है और इस सुरंग का नाम ब्रिटिश इंजीनियर कर्नल बरोग के नाम पर रखा गया है। कहा जाता है कि कर्नल बड़ोग को इस टनल को बनाने की जिम्मेदारी मिली थी। इस सुरंग को बनाने के लिए कर्नल ने दोनों सिरों पर निशान लगाकर सुरंग खोदने का आदेश दिया। दरअसल उन्हें लगा था कि यह सुरंग बीच में मिल जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  उसके बाद कर्नल बड़ोग की गलती पर ब्रिटिश सरकार ने उन्हें फटकार लगाई और जुर्माना लगाया और इससे दुखी होकर कर्नल ने इस सुरंग के पास खुद को गोली मार ली। जी हाँ, कहा जाता है कि तब से लेकर अब तक कर्नल की आत्मा यहां भटकती है। 
 
कुलधरा गाँव जैसलमेर, राजस्थान- कुलधरा गाँव राजस्थान के जैसलमेर जिले में स्थित है। दरअसल यह भारत की सबसे डरावनी जगहों में से एक है और इसे भूतों का गांव भी कहा जाता है। कहा जाता है कि जो भी इस गांव में आता है वह बहुत दुखी रहने लगता है। यह भी कहा जाता है कि जैसलमेर से महज 18 किमी दूर इस गांव में कभी 600 लोगों का परिवार रहता था। दरअसल, 18वीं सदी में सलाम सिंह गांव की एक लड़की से शादी करना चाहते थे, हालांकि गांव वाले अय्याश सलाम को अपनी बेटी देने को तैयार नहीं थे।  वहीं, सभी ने रात भर गांव छोड़ दिया और रास्ते में इस जगह को श्राप दे दिया। तब से यहां कोई नहीं रहता है। दरअसल, लोगों का कहना है कि आज भी महिलाओं की पायल और चूड़ियों की आवाज सुनाई देती है।

cc

 खैरताबाद साइंस कॉलेज, हैदराबाद- हैदराबाद, तेलंगाना में स्थित खैरताबाद साइंस कॉलेज भी भारत की डरावनी जगहों में से एक है। कहा जाता है कि जब इस कॉलेज को बंद किया गया तो यहां की लैब में कुछ लाशें पड़ी थीं।  तब से कुछ लोगों ने इस जगह पर कंकालों को चलते हुए देखा है। इतना ही नहीं, इसके अलावा यहां से डरावनी आवाजें भी आती हैं।

 भानगढ़ किला, अलवर, राजस्थान- राजस्थान के अलवर जिले में सरिस्का अभ्यारण्य से सटा भानगढ़ किला, भारत के सबसे भयावह स्थानों में से एक है। दरअसल, इस किले को आमेर के राजा भगवंत दास ने साल 1583 में बनवाया था। जी हां और इस किले के बारे में कहा जाता है कि शाम के बाद यहां किसी का भी जाना मना है। इसके साथ ही कुछ स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां कई लोग गायब भी हुए हैं।  वैसे इस किले के बाहर साफ लिखा है कि शाम के बाद यहां न रुकें।