logo
Utility News: कांग्रेस विधायकों ने भी द्रौपदी मुर्मू को दिया वोट, जानिए इसका बड़ा कारन
 

जयपुर: राजस्थान कांग्रेस ने भी राष्ट्रपति चुनाव में सेंध लगाई है।  राजस्थान से एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को 75 वोट मिले। जिसमें बीजेपी के 70 और हनुमान बेनीवाल की आरएलपी के तीन विधायकों ने मुर्मू के पक्ष में वोट किया था।  इसके अलावा दो अन्य वोट भी मुर्मू को मिले। ऐसे में माना जा रहा है कि ये दोनों वोट कांग्रेस के विधायकों ने दिए हैं। 

राष्ट्रपति चुनाव के नतीजों के मुताबिक राजस्थान के 75 विधायकों ने एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को वोट दिया।  जबकि कांग्रेस और विपक्षी दलों के संयुक्त उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को 123 वोट मिले। राजस्थान में कुल 200 में से 198 विधायकों ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया था। कांग्रेस विधायक भंवरलाल शर्मा और बीटीपी विधायक राजकुमार रोत वोट डालने नहीं पहुंचे। इस तरह कांग्रेस और उसके समर्थक विधायकों ने कुल 124 वोट डाले। जबकि कांग्रेस 126 विधायक होने का दावा कर रही थी, यानी 126 वोट। राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में क्रॉस वोटिंग करने पर शोभरानी कुशवाहा को भाजपा से निलंबित कर दिया गया था। दरअसल, धौलपुर के बारी से विधायक शोभरानी कुशवाहा कांग्रेस विधायक महेंद्र चौधरी के साथ विधानसभा में वोट डालने पहुंची थीं। 

माना जाता है कि उन्होंने यशवंत सिन्हा को वोट दिया था। अगर ऐसा नहीं भी हुआ तो कांग्रेस समर्थित खेमे का एक वोट क्रॉस वोटिंग के जरिए एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में गया और दूसरी तरफ बीजेपी और आरएलपी विधायकों के अलावा दो अन्य विधायकों के वोट भी द्रौपदी मुर्मू के  पक्ष में रहे ।