logo
Mirabai ChanuOlympic medallist Mirabai Chanu ने खेलो इंडिया महिला भारोत्तोलन लीग मे जीता गोल्ड, नया रिकॉर्ड बनाने से चूकीं
 

ओलंपिक पदक विजेता मीराबाई चानू ने पहले खेलो इंडिया महिला भारोत्तोलन लीग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता लेकिन स्नैच में अपना राष्ट्रीय रिकॉर्ड स्थापित करने में विफल रही। टोक्यो ओलंपिक की रजत पदक विजेता चानू ने भी 191 किग्रा (86 और 105 किग्रा) भार उठाया है। ज्ञानेश्वरी देवी (170 किग्रा) एशियाई भारोत्तोलन चैंपियनशिप में दूसरे और पूर्व 45 किग्रा स्वर्ण पदक विजेता, झिमे दलबेहारा (166 किग्रा) तीसरे स्थान पर बनी हुई है।

मीरा चानू ने 86 किग्रा भार उठाकर शुरुआत की लेकिन दूसरे और तीसरे प्रयास में 89 किग्रा नहीं उठा सकी। उनका सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत रिकॉर्ड 88 किग्रा का है जिसे उन्होंने 2020 की राष्ट्रीय चैंपियनशिप के बीच उठाया था। 49 किग्रा युवा वर्ग में महाराष्ट्र की आरती तत्गुंती ने 148 किग्रा भार उठाकर स्वर्ण पदक जीता, जबकि असम की पंचमी सोनोवाल दूसरे और हरियाणा की हिमांशी ने तीसरा स्थान हासिल किया। 49 किग्रा जूनियर वर्ग में ज्ञानेश्वरी ने भी स्वर्ण पदक जीता, जबकि संजू देवी दूसरे और वी रितिका तीसरे स्थान पर रहीं।
 
आपको बता दें कि उन्होंने कहा है कि मैं इस दुनिया अमेरिका में अभ्यास करने में लगा हूं। मैं इस साल एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करूंगा। इस पुरस्कार के लिए बीबीसी को धन्यवाद। भारत की युवा क्रिकेटर शैफाली वर्मा को 'सर्वश्रेष्ठ उभरते खिलाड़ी' के पुरस्कार से नवाजा गया है। 2000 सिडनी ओलंपिक में पदक जीतने वाले भारोत्तोलक कर्णम मल्लेश्वरी को 'लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड' भी दिया गया है। इस अवसर पर टोक्यो ओलंपिक और पैरालंपिक खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया गया है।

भारोत्तोलक मीराबाई चानू कुछ समय पहले बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में देश के बैग में एक और स्वर्ण पदक डालने के लिए टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले 49 किग्रा भार वर्ग को छोड़ने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। मीराबाई इस साल अगस्त में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में 55 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने की तैयारी में हैं। मीरा 55 किग्रा वर्ग में बर्मिंघम का टिकट पाने के लिए 25 से 27 फरवरी तक सिंगापुर में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के क्वालीफाइंग इवेंट 'सिंगापुर इंटरनेशनल' में खेलती नजर आएंगी।