logo
Sports Gossip: चोट से जूझते हुए देश के लिए जीते दो वर्ल्ड कप, आईपीएल में 2 अलग-अलग टीमों को खिताब दिलाया
 

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2018 के फाइनल में सीएसके के एक खिलाड़ी ने सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाजों को धो डाला था। उन्हें देखकर ऐसा नहीं लगा कि उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट जगत को अलविदा कह दिया है। अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के बीच में भी वह कई बार पीली जर्सी में नजर आए और जब तक वे मैदान पर होते, उनके सामने की टीम भी चिंतित रहती थी।  वह खिलाड़ी कोई और नहीं बल्कि शेन वॉटसन हैं। 

cc

चोट से पुराना रिश्ता: बता दें कि कई चोटों के बावजूद वाटसन ने खुद को एक सफल वनडे ऑलराउंडर के रूप में स्थापित किया है। बल्लेबाजी के दौरान वह काफी आक्रामक थे। चौड़ा कंधा और गेंद को जोरदार झटका वॉटसन की ताकत थी। कुछ लोगों की नजर में अगर मैथ्यू हेडन दाएं हाथ से बल्लेबाजी करते हैं तो वह बिल्कुल वॉटसन की तरह दिखते हैं। गेंद को बाउंड्री से बाहर निकालने के लिए वाटसन को फॉलो-थ्रू की जरूरत नहीं पड़ी।

cc
 
वह 2013 का भारत दौरा: 2013 का भारत दौरा उनके करियर का सबसे निचला बिंदु था। कोच मिकी आर्थर को एक टास्क पूरा नहीं करने पर टीम से बाहर कर दिया गया। उनके अलावा तीन अन्य खिलाड़ियों को भी बाहर कर दिया गया। उन्होंने दिल्ली टेस्ट में वापसी की। माइकल क्लार्क की गैरमौजूदगी में उन्हें कप्तान बनाया गया था।