logo
टीम इंडिया के लिए विलन साबित हुआ यह खिलाड़ी, तोड़ी रोहित शर्मा की उम्मीदें
 

ऑस्ट्रेलिया में खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप के दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में भारत और इंग्लैंड के बीच घमासान मुकाबला हुआ था. लेकिन टीम इंडिया इस अहम मुकाबले में जीत हासिल नहीं कर पाई और इंग्लैंड की टीम ने उसे 10 विकेट से करारी शिकस्त दी है. इस हार के लिए भारतीय टीम के गेंदबाज पूरी तरह से जिम्मेदार बताए जा सकते हैं. लेकिन इस दौरान भारतीय टीम का एक गेंदबाज टीम के लिए विलन साबित हुआ है इस कारण से भारतीय टीम फाइनल में पहुंचने से पीछे रह गई. आइए बताते हैं कौन है वह खिलाड़ी…

s


ये है वो खिलाड़ी

भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए इंग्लैंड की टीम को 169 रनों का लक्ष्य दिया था. अगर टीम इंडिया चाहती तो इस लक्ष्य पर सेमीफाइनल मुकाबला जीत सकती थी. लेकिन गेंदबाजों के कारण इंग्लैंड की टीम ने यह लक्ष्य बहुत ही आसानी से हासिल कर लिया. देखा जाए तो इस सेमीफाइनल मुकाबले में तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने सभी को निराश किया है. भारतीय टीम की हार के लिए विलन करार दिया गया है. मोहम्मद शमी ने अपने 3 ओवर की गेंदबाजी में 39 रन दे दिए. इसके बावजूद एक भी विकेट नहीं ले पाए.

a

एक साल बाद मिला मौका

T20 वर्ल्ड कप से तुरंत पहले ही भारतीय टीम के मुख्य गेंदबाज जसप्रीत बुमराह चोटिल हो गए थे. इस कारण चयनकर्ताओं ने जसप्रीत बुमराह की जगह मोहम्मद शमी को टीम में शामिल कर लिया. कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए. पिछले साल खेले गए टी-20 वर्ल्ड कप में भी मोहम्मद शमी ने खराब प्रदर्शन किया था, इसलिए उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. इसके बाद उन्हें 1 साल तक T20 क्रिकेट खेलने का मौका नहीं दिया गया लेकिन जसप्रीत बुमराह के चोटिल हो जाने के बाद उन्हें बिना मन के भी टीम में शामिल करना पड़ा.

भारत के लिए खेले तीनों फॉर्मेट

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने टीम इंडिया के लिए क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट खेले हैं. इस दौरान उन्होंने भारत के लिए 60 टेस्ट मैच, 82 वनडे मैच और 23 T20 मैचों में गेंदबाजी की है. उन्होंने टेस्ट मैचों में कुल 218 विकेट, वनडे मैचो में 152 विकेट तो T20 मैचों में 24 विकेट हासिल किए है. लेकिन पिछली बार की तरह इस बार भी T20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के लिए विलन साबित होकर रह गए हैं.